सांसद के विरोध में ग्रामीण- सांसद गिना रहे कब कब आये गांव। लगातार ग्रामीणों ने कहा:- नहीं आया सांसद। सांसद के विरोध में ग्रामीणों की हुई आवाज ऊंची। सांसद पत्नी के स्वर को भी ग्रामीणों ने दबाया।






सांसद गुमानसिंह डामोर का ग्रामीणों ने उमरकोट क्षेत्र में जम कर विरोध किया। विरोध के स्वर इतने उंचे हुये कि सांसद और उनकी पत्नी की आवाज दब के रह गयी। 
सभी ग्रामीणों ने एक साथ एक आवाज में विरोध दर्ज करते हुये कहा की सांसद जीत जाने के बाद कभी गांव नहीं आये। ऐसा एक नही करीब-करीब तीन से चार गांव में ग्रामीणो ने सांसद और उनकी पत्नी का विरोध किया। 


जानकारी के मुताबीक उमरकोट के गांव पालेडी और रामा ब्लाक के नारन्दा गांव में ग्रामीणों ने सांसद का जम कर विरोध किया। 
सांसद चुनावी माहौल में क्षेत्र के भ्रमण पर गांव पालेडी में रात को गांव के लोगों की सभा ले रहे थे। तभी माईक में आनाउंस करने वाले व्यक्ति ने सांसद को उन्हीं के सामने यह कह दिया कि जीत के बाद वो कभी गांव नहीं आये। जब सांसद ने चुप होने के लिये कहा तब भी वो शख्स चुप न रहा। तभी सांसद पत्नी ने उठ कर उस ग्रामीण के हाथ से माईक छीन लिया और बहस शुरू हुई फिर सामने बैठे ग्रामीणों से पुछा आप बताए क्या सांसद आपके गांव नही आये। 
पलभर की चुप्पी के बाद सभी ग्रामीण एक साथ एक स्वर में बोले सांसद नहीं आया और बोलते रहे। विरोध की लहर में सांसद की आवाज धीमी हो कर दब गयी। और सांसद को गांव पालेडी से उल्टे पांव वापस आना पड़ा।


रहें हर खबर से अपडेट झाबुआ समाचार के साथ

ख़बर पर आपकी राय

Famous Posts

Sports