नशे में खाकी घुमे मेले में - उपहास उड़ाते लोग, पुलिस जनता को वीडियो बनाने से रोकती हुई। होमगार्ड अधिकारी करेगे कार्यवाही या समझाईश से मानेगी शराबी खाकी।



भगौरिया मैला और तरह तरह की की बातें, फोटो और वीडियो सामने आये हैं। इस मेले में बहुत से रंग दिखाई दिये भी हैं। बीते दिन ढेकल ग्राम का भगोरिया मेला लगा जिसमें झाबुआ कोतवाली निरीक्षक ने बहुत ही अच्छी चाक- चौबंद व्यवस्था की। मगर एक खाकीधारी होमगार्ड ने सारी अच्छाई पर पानी फेर दिया। जिससे होमगार्ड की वजह से पुलिस बदनाम हो गयी


ढेकल गांव का भगौरिया अपनी परंपरागत मस्ती में मस्त आनन्द के साथ मनाया जा रहा था तभी एक सुरक्षा कर्मी  होमगार्ड ने शराब का नशा इस कदर कर लिया की वो बेसुध हो गया। और एक स्थान पर जा गिरा, भीड़ होना शुरू हो गयी। 
लोग देख कर खाकी का मखौल उड़ा रहे थे, नशे में धुत खाकीधारी के मज़े लिये जा रहे थे। फिर नशा कम करने के लिये उस नशीले होमगार्ड पर भरपुर पानी डाला गया। लेकिन नशा तो नशा होता है जो एक बार चढ़ गया वो इतनी जल्दी कहां उतरता है। कुछ लोग इस कृत्य का वीडियो बनाते-बनाते ताना भी मार रहे थे तो कुछ उपहास उड़ा रहे थे। 


हालांकि जब शराब बन कर बिक रही है तो पीने में क्या गुनाह, लेकिन नियम के अनुसार तो बहुत ही गलत और ड्यूटी पर पीना तो गुनाह फिर पी कर बेसुध हो जाना उससे भी बड़ गुनाह। 
समान्यतह सार्वजनिक स्थल पर शराब पीने पर और अधिक पी कर नाटक करने पर सज़ा के साथ अर्थदंड का प्रावधान हैं। 
बीते भगोरोये में नशीले होमगार्ड ने खाकी के सम्मान को पलभर में समाप्त कर दिया, ड्यूटी पर पी कर नशे में धूर्त होने पर जो मखौल उड़ा उस पर हर कोई शर्मिंदा हैं। 

बहरहाल, जब नशे में होमगार्ड को संभालने के लिये सभी को आना पड़ा और तभी कोई घटना हो जाती तब उसका जिम्मेदार कौन होता, और फिर जो उपहास पुलिस का मैले में बनाया गया, जिसकी वजह से खाकी को ताना मिला उसका जिम्मेदार कौन होगा। 
एक पुलिस कर्मी वहां नशीले होमगार्ड का वीडियो बना रहा था वो चहता तो साथी के साथ मिलकर नशीले को अपने किसी वाहनों में व्यवस्थित लेता भी तो सकता था। कम से कम मखौल और उपहास के दायरे में खाकी तो नहीं आती। 

रहें हर खबर से अपडेट झाबुआ समाचार के साथ

ख़बर पर आपकी राय

Famous Posts

Sports