खाद्य सुरक्षा प्रशासन की जिले में कार्यवाही- बिना लाइसेंस के संचालित मिनरल वाटर प्लांट किये सील। राजगढ़ नाका स्थित दुकानों पर की गयी कार्यवाही।




जिले मे मिलावट से मुक्ति अभियान अंतर्गत लगातार कार्यवाही की जा रही है। त्योहार को दृष्टिगत रखते हुए संयुक्त दल द्वारा लगातार विभिन्न स्थानो पर जाकर प्रकरण बनाये जा रहे हैं।

बीते दिनों संयुक्त दल द्वारा मेघनगर के इंडस्ट्रियल एरिया मे बिना पंजीयन/लाइसेंस के चल रही चस्का(पेप्सी) निर्माण इकाई को सील कर बन्द करवाया गया था और सेकरीन होने की आशंका के आधार पर नमूने ले कर जाकर जाँच प्रयोगशाला को भेजे गए है, जिनकी रिपोर्ट आना अभी बाकी है। 



शिकायत मिलने पर संयुक्त दल से खाद्य सुरक्षा अधिकारी ग्राहक बनकर राजगढ़ नाका स्थित विभिन्न दुकानों पर पहुंचे जहाँ एम आर पी से अधिक मूल्य पर दूध और कोल्ड्रिंकस् विक्रय करते पाए जाने पर नापतौल निरीक्षक द्वारा प्रकरण दर्ज किये गए है। 


संयुक्त दल ने झाबुआ के रिहायशी इलाके मे संचालित मिनरल वाटर प्लांट का औचक निरीक्षण किया। जहाँ मिनरल वाटर निर्माण किया जाना पाया गया। जिसपर मिथ्याछाप होने की आशंका के आधार पर पानी के नमूने लिए गए है तथा मौके पर प्रोपराइटर से बी आई एस, आई एस आई सर्टिफिकेट एंव खाद्य लाइसेंस पूछने पर प्रस्तुत नहीं किया गया। जिसके आधार पर उक्त प्लांट को लाइसेंस प्राप्त करने तक की स्थिति मे बंद करवाया गया है। 



राजकमल रेस्टोरेंट, महेश्वरी होटल, महेश्वरी किराना, बाबूस् रेस्ट्रो कैफे, सिसोदिया किराना एवं कोल्डड्रिंकस झाबुआ, कंचन इंटरप्राइजेस, ब्लू रीफ मिनरल वाटर गाड़िया कॉलोनी पर शनीवार को कार्यवाही की गयी

इसके पूर्व भी दल दो से तीन बार प्लांट पर निरीक्षण करने के लिए पहुंचा था लेकिन प्रोपराइटर कभी मौजूद नहीं पाए गए थे।

रहें हर खबर से अपडेट झाबुआ समाचार के साथ

ख़बर पर आपकी राय

Famous Posts

Sports