शुक्रवार को सुलोचना रावत बड़े-बड़े नेताओ के साथ भाजपा से भरेगी पर्चा - राजनीति के गलियारों में जलती बुझती ट्यूबलाईटस। घमासान विरोध के बावजूद भी भाजपा ने चुना कांग्रेस को त्यागने वाली सुलोचना रावत को।



राजनीति के दरिया में किसकी नाव में कौन सवार होकर चला जाता है, जनता इस दल बदल को समझ नहीं पाती। जनता चाहती तो क्षेत्र का विकास हैं मगर नेता निस्वार्थ भाव से परे हो जाते हैं। 
फिर भी विश्वास की नीव इतनी मजबूत होती है की जनता हर जख्म भूल कर क्षेत्र के विकास की शर्त पर दल बदलने वाले को भी स्वीकार करती हैं।

जोबट से रावत परिवार का कांग्रेस को त्याग देना और भाजपा का दामन थाम लेने से राजनीति के मौसम में बदलाव सा आ गया था, जिसकी भविष्यवाणी अनिश्चत हो कर अभूतपूर्व हो गयी। भाजपा में जो श्रीमती रावत का विरोध कर रहे थे, पार्टी और संगठन के इशारे ने उन्हें शांत भाव से साथ देने पर मजबुर कर दिया, क्युंकि लक्ष्य निर्धारित है विजय प्राप्त करने का, इसलिये कांग्रेस त्याग कर आने वालों का स्वागत किया। 
फिर बीते दो दिन पहले जब प्रदेश मुखिया शिवराजसिंह चौहान ने झाबुआ में आ कर सुलोचना रावत का जोरदार परिचय भाजपा प्रत्याशी के रूप में जनता से करवाया था। 
विशेषज्ञों का इसमें यह भी कहना था कि इस कार्यक्रम को करने का मूल उद्देश्य जोबट उप चुनाव में भाजपा से सुलोचना रावत की पहचान करवानी थी वहीं जोबट क्षेत्र के भाजपाईयौ से जोबट की जनता को लाने की कहानी थी। सीएम के कार्यक्रम में जितनी जनता झाबुआ की थी उतनी ही जोबट क्षेत्र से भी आयी थी। 
खैर जोबट में विरोध के स्वर को गुरुवार की शाम को ठंडा भी कर प्रभारी मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तिगांव अपने ठिकाने भी लौट गये। 



शुक्रवार को सुलोचना रावत जोबट उपचुनाव में भाजपा से फार्म सबमिट करेगी, जिसमें सूत्रो के अनुसार साथ देने के लिये दो सांसद, अलीराजपुर प्रभारी मंत्री, परिवहन मंत्री, लघु उद्योग मंत्री, नागर सिंह चौहान, माधोसिंह डावर, युवा मोर्चा अध्यक्ष और भी पार्टी के प्रमुख नेता साथ होंगे।

हालांकि जोबट की जनता जैसा चाहती थी, वेसा हुआ नहीं, फिर भी जनता तो जनार्दन है जिसकी ओर जायेगी उसका पलड़ा भारी हो जायेगा। अब देखना यह है कि, कांग्रेस त्याग करने वाली सुलोचना रावत का जनता पर भाजपायी प्रभाव कैसा पड़ता हैं।  
बहरहाल गुन्गे की कोहनी पर गूड़ की गठरी, जोबट की जनता पुराने जख्म से उभर पाये इसलिये वो चाहती थी प्रत्यासी जोबट की जमीं से जुड़ा हुआ हो, और किसी अन्य विधानसभा की राजनीति जोबट में प्रवेश न हो। 

रहें हर खबर से अपडेट झाबुआ समाचार के साथ

ख़बर पर आपकी राय

Famous Posts

Sports