2 करोड़ 70 लाख के मुआवजे की जानकारी के लिये 135 किसान लामबंध-किसी को नहीं पता कितनी जमीन का कितना मिलेगा मुआवजा। पहली बार में SDM कार्यालय से भगाये गये थे किसान।



मंगलवार को 135 किसान SDM कार्यालय पहुंचे, यह जानने के लिये कि, जो 2 करोड़ 70 का मुआवजा उनको मिलने वाला है वो किस तरह और कितना मिलेगा, साथ की शासन की कौन सी गाईड लाईन से मिलेगा। मगर किसानों को पहली बार में जानकारी स्पष्ट नहीं हो पाई, सूत्रों के मुताबिक किसानों को SDM ने बाहर का रास्ता दिखा दिया था। 


किसान जानना चाहते थे कि पटवारी द्वारा जिस कागज पर अंगूठा या हस्ताक्षर करवाये जा रहे हैं असल मे उस पर लिखा क्या है। मगर जानकारी न पटवारी से मिली न ही SDM से। 
जानकारी के अभाव में भटक रहें किसानों की मदद के लिये अल्केश मेड़ा और भाजपा युवा मोर्चा के मांगीलाल भूरिया आगे आये। जिसके बाद SDM से चर्चा की। तब 135 किसानों को मुआवजे की सीधी जानकारी दी गयी। जनता के साथ नये नेता ने नि स्वार्थ काम किया। 
साथ ही साथ SDM ने यह भी बताया कि, शासन की गाईड लाईन से सारा कार्य किया जायेगा वहीं जो भी लिखापढ़ी की जायेगी उसके दस्तावेज में एक किसान के पास होगा और एक SDM कार्यालय में रखा जायेगा। 
पूर्ण पारदर्शिता से मुआवजा देने का कार्य किया जायेगा। 



हालांकि, प्रशासन किसानों के प्रती लापरवाह न होता तो किसानों को अपने हक़ अधिकार की जानकारी के लिये SDM कार्यालय में SDM के चक्कर नहीं लगने पड़ते। 

बहरहाल,  135 किसानों की 24 हेक्टीयर भूमि डूब में जाने के बाद शहर में जनता को पानी मिलेगा। लेकिन मुआवजे की अधुरी और जानकारी के अभाव में धोखे की आशंका हैं। फिर शिकायत भी है कि अधिकारी न कोई जानकारी देते है न ही ठीक से बात करते हैं।

रहें हर खबर से अपडेट झाबुआ समाचार के साथ

ख़बर पर आपकी राय

Famous Posts

Sports